News (Hindi)

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज मास्को में रूसी संघ के उप प्रधानमंत्री श्री यूरी बोरिसोव के साथ भारत-रूस रक्षा सहयोग की समीक्षा की। श्री बोरिसोव व्यापार और आर्थिक और वैज्ञानिक सहयोग पर भारत के साथ अंतर-सरकारी आयोग के सह-अध्यक्ष हैं। उन्होंने विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर रक्षा मंत्री के साथ उच्च स्तरीय समिति की सह-अध्यक्षताRead More
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे कोरोना योद्धाओं को सलाम करने के लिए आज देश के विभिन्न स्थानों पर थल, जल और वायु में सैकड़ों गतिविधियों को अंजाम देने के सशस्त्र बलों के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा, “सशस्त्र बलों ने कोरोना महामारी से जूझ रहे योद्धाओं के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए आज अनेक गतिविधियों का आयोजन किया। अग्रिम मोर्चों पर तैनात रहने वाले ये योद्धा कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में शामिल सभी योद्धाओं के मनोबल को मजबूती प्रदान करने की दिशा में सराहनीय काम कर रहे हैं।”  वायुसेना, नौसेना और तटरक्षक बल के हेलीकाप्टरों द्वारा फ्लाई पास्‍ट, अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा का उल्लेख करते हुएश्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोविड-19 द्वारा प्रस्‍तुत चुनौतियों पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में काबू पाने के देश के संकल्प और एकता को सशस्त्र बलों नेसलाम किया। श्री राजनाथ सिंह ने चिकित्सा व्‍यवसायियों, पुलिस और अन्य फ्रंटलाइन वॉरियर्स के प्रति आभार व्यक्त करने के लिएकई प्रदर्शनों के माध्यम से सशस्त्र बलों की ओर से की गई विशेष पहल के लिए उन्‍हें धन्‍यवाद दिया और कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश एकजुट है।      डॉक्टरों, नर्सों, स्वच्छता और सफाई कर्मचारियों, पुलिस कर्मियों, मीडिया कर्मियों और आवश्यक सेवाओं तथा आपूर्ति बनाए रखने में जुटे अन्य कई लोगों सरीखे कोरोना योद्धाओं ने कोविड-19 को फैलने से रोकने की दिशा में किए जा रहे राष्ट्रीय प्रयासों में लगातार अपना योगदान दिया है। ये योद्धा रोजाना अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं ताकि बिजली और पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं सभी को उपलब्‍ध कराना सुनिश्चित किया जा सके, सड़कें साफ-सुथरी हों, खाने की बुनियादी चीजें उपलब्ध हों, कोई भी मरीज बिना इलाज के वापस न लौटे, कानून और व्यवस्था बरकार रहे और विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके और उनकी देखभाल हो सके। सशस्त्र बलों ने भारत के कोरोना योद्धाओं के प्रति आज अद्वितीय सैन्य तरीके से भव्‍य सम्‍मान प्रकट किया। श्रीनगर से तिरुवनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक सेना ने पुलिस स्‍मारकों पर पुष्‍पां‍जलि करने, स्वास्थ्य व्‍यवसायियों और आपातकालीन आपूर्ति संचालकों को सम्मानित करने और उनका अभिनंदन करने जैसी विभिन्न गतिविधियों को अंजाम दिया। सभी राज्यों के सैकड़ों शहरों में सेना कीस्थानीय संरचनाओं द्वारा देश भर में मिलिट्री बैंड सहित छोटी और बड़ी सैन्‍य टीमों के साथ अस्‍पतालों का दौरा किया गया, जिन्‍होंने देशभक्ति की धुने बजाकर कोरोना के खिलाफ संघर्षरतइन फ्रंटलाइन योद्धाओं के प्रति सम्‍मान प्रकट किया।      दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, भोपाल, आगरा, अमृतसर, बेलगाम, रानीखेत, पिथौरागढ़ सहित अनेक महानगरों, बड़े और छोटे शहरों में सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और तटरक्षक बल (आईसीजी) ने अस्पतालों का दौरा किया और अपना सम्‍मान प्रकट किया। गतिविधियों की शुरुआत स्थानीय पुलिस स्मारक पर पु‍ष्‍पांजलि अर्पित करने के साथ शुरू हुईं, यह घटना वास्तव में अभूतपूर्व रही  और सुरक्षाबलों को उनके वर्दीधारी भाइयों के करीब लाई। समूचे देश और सभी देशवासियों ने इस भव्‍य अभिनंदन का आनंद लिया और सोशल मीडिया पर सशस्त्र बलों के लिए बड़े पैमाने पर शुभकामनाएं दी और अपना स्‍नेह प्रकट किया।      समूचे देश में सशस्त्र बलों ने कई अन्य कार्यक्रम आयोजित किए, जिनमें भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू और परिवहन विमानों द्वारा फ्लाई पास्ट करना भी शामिल था। भारतीय वायुसेना, भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल (आईसीजी) के हेलीकॉप्टरों ने कोविड रोगियों का इलाज करने वाले अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा की। सेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के बैंड ने कोविड अस्पतालों का दौरा किया और धुनें बजाकर कोरोना वारियर्स के प्रति आभार व्यक्तकिया।  सुखोई -30 एमकेआई, मिग -29 और जगुआर जैसे लड़ाकू विमानों ने राजपथ पर फ्लाई पास्‍ट करते हुए फॉर्मेशन्‍स बनाईं और दिल्ली की परिक्रमा की, जिसे निवासियों ने अपने घरों की छतों से देखा। इसके अलावा, सी 130 जे हरक्यूलिस परिवहन विमान ने भी एनसीआर क्षेत्र में उड़ान भरी। नौसेना और आईसीजी पोतों ने तटों के समीपचुनिंदा स्थानों पर फॉर्मेशन्‍स बनाईं। आज रात को दूरदराज के इलाकों और अंडमान निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप तथा मिनिकॉय द्वीप समूह  जैसे सुदूर क्षेत्रों सहित देश की पूरी तटीय रेखा के साथ 25 स्‍थानों पर पोतों को प्रकाशवान किया जाएगा। ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के कुपवाड़ा जिले के हंदवाड़ा (Handwara) में शनिवार को आतंकी मुठभेड़ (Terrorist Encounter) में शहीद हुए 5 जवानों की शहादत ने एक बार फिर देश को झकझोर कर रख दिया है. पूरी खबर पढ़ें https://hindi.news18.com/ पर. ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज यहां वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में रक्षा  क्षेत्र की सार्वजनिक इकाइयों (डीपीएसयू) और आयुध निर्माणी बोर्ड (ओएफबी) के सहयोग तथा उनकी परिचालन योजनाओं की समीक्षा की। श्री सिंह ने रक्षा क्षेत्र के सार्वजनिक उपक्रमों द्वारा कोविड-19 से लड़ने के लिए नए उत्पादों केRead More
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में शनिवार को मंत्रियों के समूह (जीओएम) की बैठक हुई जिसमें लॉकडाउन के दौरान देशभर में लोगों के समक्ष आने वाली कठिनाइयों को दूर करने के उपायों पर गहन विचार किया गया। Read More https://www.jagran.com/politics/national-discussion-on-ways-to-remove-problems-from-lockdown-meeting-chaired-by-rajnath-singh-20203420.html सौजन्य से- दैनिक जागरण ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
सभी संगठनों को सिविलियन प्राधिकरणों की सहायता पहुंचाने के प्रयासों को दोगुना करने का निर्देश दिया  रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने मंत्रालय एवं इसके विभिन्न घटकों द्वारा कोविड-19 से निपटने के लिए किये जा रहे कारगर उपाओं की वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से समीक्षा की। रक्षा राज्य मंत्री श्रीपाद नाइक, प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, नौRead More
पूरे विश्व में आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है। भारत में भी महिला दिवस की धूम रही। महिला दिवस के मौके पर देशभर में कई कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। एक कार्यक्रम में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी हिस्सा लिया। पूरी खबर पढ़ें https://www.jagran.com पर. सौजन्य से https://www.jagran.com/ ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
समाज केवल महिलाओं के उत्थान से ही विकसित होता है: रक्षा मंत्री अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 2020 के मौके पर आज, रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सशस्त्र बलों में पिछले कुछ वर्षों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है और आगे उनकी भूमिका को बढ़ाना सरकार की प्राथमिकता है। नीति आयोग द्वारा आयोजित विमेनRead More
अगले पांच वर्षों के लिए 5 अरब डॉलर के रक्षा निर्यात का लक्ष्‍य2024 तक एयरोनॉटिक्‍स उद्योग में दोगुनी वृद्धि कर इसे 60 हजार करोड़ रूपए का करने का लक्ष्‍य रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने 2024 तक पांच हजार अरब डॉलर की अर्थव्‍यवस्‍था का लक्ष्‍य हासिल करने के लिए रक्षा विनिर्माण में निजी क्षेत्र कीRead More
Back to Top