News (Hindi)

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने राष्‍ट्रीय राजमार्ग 310 के 19.85 किलोमीटर लंबे वैकल्पिक मार्ग को राष्‍ट्र को समर्पित किया है। इससे पहले वैकल्पिक मार्ग को प्राकृतिक कारणों से काफी नुकसान पहुंचा था जिसकी वजह से यह जरूरी हो गया था क्‍योंकि यह सड़क पूर्वी सिक्किम और खासकर नाथुला सेक्‍टर में रक्षा तैयारियों के लिहाजRead More
सदन में विपक्ष के हंगामे के बीच किसान विधेयक आज राज्यसभा से भी पास हो गया। कृषि संबंधित दो बिल ध्वनि मत से पास हुए। राज्यसभा में विधेयक पर चर्चा के बाद कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने जवाब दिया। नरेंद्र सिंह तोमर के जवाब देने के दौरान विपक्ष के सांसदों ने जोरदार हंगामा किया।Read More
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज यहां डायरेक्टोरेट जनरल नेशनल कैडेट कॉर्प्‍स (डीजीएनसीसी) मोबाइल प्रशिक्षण ऐप लॉन्‍च किया। यह ऐप एनसीसी कैडेटों के देशव्यापी ऑनलाइन प्रशिक्षण के संचालन में सहायता करेगा। कोविड-19 द्वारा थोपे गए प्रतिबंधों को देखते हुए, एनसीसी कैडेटों के प्रशिक्षण पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा था क्योंकि अधिकांशतः यह संपर्क आधारित ही होता है।Read More
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने चित्रदुर्ग जिले में भारतीय विज्ञान संस्थान (आईआईएससी) के चाल्लाकेरे परिसर में एचएएल-आईआईएससी कौशल विकास केंद्र का गुरुवार को उद्घाटन किया। रक्षा मंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए किए गए उद्घाटन कार्यक्रम में कहा कि ज्ञान शक्ति है और नवोन्मेष तथा रचनात्मकता के लिए कुशल श्रमबल होना बुनियादी जरूरत है। FullRead More
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को रक्षा क्षेत्र से जुड़े कुछ अहम ऐलान किए। उन्होंने बताया कि रक्षा मंत्रालय ‘आत्मनिर्भर भारत’ की ओर कदम बढ़ा रहा है। इसके तहत 101 रक्षा उपकरणों के आयात को प्रतिबंधित किया गया है। Full Story- https://www.livehindustan.com/ साभार- हिंदुस्तान ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
असॉल्ट राइफल, आर्टिलरी गन, रडार, हल्के जंगी हेलिकॉप्टर. ये उन रक्षा उपकरणों की सूची है जो भारत कुछ महीने पहले तक दूसरे देशों से मंगाता था.  Full Story- आजतक पर. साभार- आजतक ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
इंडियन एयरफोर्स की शक्ति आज और भी बढ़ गई है, आज फ्रांस से उड़ान भरने के बाद 5 राफेल विमानों ने हरियाणा के अंबाला एयरबेस पर लैंड किया। जहां पर इन लड़ाकू विमानों का स्वागत वाटर सैल्यूट के साथ किया गया। पूरी ख़बर- https://www.jansatta.com/business/car-bike/rafale-jets-way-india-top-five-things-know-speed-weapons-engines-price-details/1481029/ साभार- जनसत्ता ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज कोरिया गणराज्य के रक्षामंत्री (आरओके) श्री जियोंग योंग-डू के साथ टेलीफोन पर बातचीत की। दोनों रक्षा मंत्रियों ने कोविड महामारी की स्थिति से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की। श्री राजनाथ सिंह ने कोविड के खिलाफ अंतर्राष्ट्रीय प्रयासों में भारत के योगदान के बारे में श्री जियोंगयोंग-डू को जानकारी दीRead More
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने आज मास्को में रूसी संघ के उप प्रधानमंत्री श्री यूरी बोरिसोव के साथ भारत-रूस रक्षा सहयोग की समीक्षा की। श्री बोरिसोव व्यापार और आर्थिक और वैज्ञानिक सहयोग पर भारत के साथ अंतर-सरकारी आयोग के सह-अध्यक्ष हैं। उन्होंने विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर रक्षा मंत्री के साथ उच्च स्तरीय समिति की सह-अध्यक्षताRead More
रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे कोरोना योद्धाओं को सलाम करने के लिए आज देश के विभिन्न स्थानों पर थल, जल और वायु में सैकड़ों गतिविधियों को अंजाम देने के सशस्त्र बलों के प्रयासों की सराहना की है। उन्होंने कहा, “सशस्त्र बलों ने कोरोना महामारी से जूझ रहे योद्धाओं के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए आज अनेक गतिविधियों का आयोजन किया। अग्रिम मोर्चों पर तैनात रहने वाले ये योद्धा कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में शामिल सभी योद्धाओं के मनोबल को मजबूती प्रदान करने की दिशा में सराहनीय काम कर रहे हैं।”  वायुसेना, नौसेना और तटरक्षक बल के हेलीकाप्टरों द्वारा फ्लाई पास्‍ट, अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा का उल्लेख करते हुएश्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोविड-19 द्वारा प्रस्‍तुत चुनौतियों पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में काबू पाने के देश के संकल्प और एकता को सशस्त्र बलों नेसलाम किया। श्री राजनाथ सिंह ने चिकित्सा व्‍यवसायियों, पुलिस और अन्य फ्रंटलाइन वॉरियर्स के प्रति आभार व्यक्त करने के लिएकई प्रदर्शनों के माध्यम से सशस्त्र बलों की ओर से की गई विशेष पहल के लिए उन्‍हें धन्‍यवाद दिया और कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश एकजुट है।      डॉक्टरों, नर्सों, स्वच्छता और सफाई कर्मचारियों, पुलिस कर्मियों, मीडिया कर्मियों और आवश्यक सेवाओं तथा आपूर्ति बनाए रखने में जुटे अन्य कई लोगों सरीखे कोरोना योद्धाओं ने कोविड-19 को फैलने से रोकने की दिशा में किए जा रहे राष्ट्रीय प्रयासों में लगातार अपना योगदान दिया है। ये योद्धा रोजाना अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं ताकि बिजली और पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं सभी को उपलब्‍ध कराना सुनिश्चित किया जा सके, सड़कें साफ-सुथरी हों, खाने की बुनियादी चीजें उपलब्ध हों, कोई भी मरीज बिना इलाज के वापस न लौटे, कानून और व्यवस्था बरकार रहे और विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके और उनकी देखभाल हो सके। सशस्त्र बलों ने भारत के कोरोना योद्धाओं के प्रति आज अद्वितीय सैन्य तरीके से भव्‍य सम्‍मान प्रकट किया। श्रीनगर से तिरुवनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक सेना ने पुलिस स्‍मारकों पर पुष्‍पां‍जलि करने, स्वास्थ्य व्‍यवसायियों और आपातकालीन आपूर्ति संचालकों को सम्मानित करने और उनका अभिनंदन करने जैसी विभिन्न गतिविधियों को अंजाम दिया। सभी राज्यों के सैकड़ों शहरों में सेना कीस्थानीय संरचनाओं द्वारा देश भर में मिलिट्री बैंड सहित छोटी और बड़ी सैन्‍य टीमों के साथ अस्‍पतालों का दौरा किया गया, जिन्‍होंने देशभक्ति की धुने बजाकर कोरोना के खिलाफ संघर्षरतइन फ्रंटलाइन योद्धाओं के प्रति सम्‍मान प्रकट किया।      दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, भोपाल, आगरा, अमृतसर, बेलगाम, रानीखेत, पिथौरागढ़ सहित अनेक महानगरों, बड़े और छोटे शहरों में सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और तटरक्षक बल (आईसीजी) ने अस्पतालों का दौरा किया और अपना सम्‍मान प्रकट किया। गतिविधियों की शुरुआत स्थानीय पुलिस स्मारक पर पु‍ष्‍पांजलि अर्पित करने के साथ शुरू हुईं, यह घटना वास्तव में अभूतपूर्व रही  और सुरक्षाबलों को उनके वर्दीधारी भाइयों के करीब लाई। समूचे देश और सभी देशवासियों ने इस भव्‍य अभिनंदन का आनंद लिया और सोशल मीडिया पर सशस्त्र बलों के लिए बड़े पैमाने पर शुभकामनाएं दी और अपना स्‍नेह प्रकट किया।      समूचे देश में सशस्त्र बलों ने कई अन्य कार्यक्रम आयोजित किए, जिनमें भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू और परिवहन विमानों द्वारा फ्लाई पास्ट करना भी शामिल था। भारतीय वायुसेना, भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल (आईसीजी) के हेलीकॉप्टरों ने कोविड रोगियों का इलाज करने वाले अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा की। सेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के बैंड ने कोविड अस्पतालों का दौरा किया और धुनें बजाकर कोरोना वारियर्स के प्रति आभार व्यक्तकिया।  सुखोई -30 एमकेआई, मिग -29 और जगुआर जैसे लड़ाकू विमानों ने राजपथ पर फ्लाई पास्‍ट करते हुए फॉर्मेशन्‍स बनाईं और दिल्ली की परिक्रमा की, जिसे निवासियों ने अपने घरों की छतों से देखा। इसके अलावा, सी 130 जे हरक्यूलिस परिवहन विमान ने भी एनसीआर क्षेत्र में उड़ान भरी। नौसेना और आईसीजी पोतों ने तटों के समीपचुनिंदा स्थानों पर फॉर्मेशन्‍स बनाईं। आज रात को दूरदराज के इलाकों और अंडमान निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप तथा मिनिकॉय द्वीप समूह  जैसे सुदूर क्षेत्रों सहित देश की पूरी तटीय रेखा के साथ 25 स्‍थानों पर पोतों को प्रकाशवान किया जाएगा। ShareFacebookTwitterLinkedinemailPrint
Back to Top