किसानों के प्रशिक्षण पर आधारित ‘अग्रो विजन’ के एक वर्कशॉप नागपुर में उद्बोधन (27/12/13)

<span style=”color: #ff0000;”><strong>महंगाई से निजात दिलानी है तो कृषि पर जोर दें – राजनाथ सिंह</strong></span>

नागपुर में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह जी किसानों के प्रशिक्षण पर आधारित ‘अग्रो विजन’ के एक वर्कशॉप में शामिल हुए। श्री सिंह ने आज देश में किसानों की दयनीय हालत को बयां करते हुए कहा कि एक सर्वे की मानें तो आजादी से पहले हमारे देश की 75 फीसदी आबादी कृषि पर निर्भर थी, लेकिन आज यह 50 फीसदी तक पहुंच चुकी है। उन्होंने कहा कि अब किसानों का पलायन हो रहा है। खेती करने वालों की संख्या दिन-ब-दिन कम हो रही है। उसकी सबसे बड़ी वजह है कि खेती में मुनाफा कम हो रहा है। श्री सिंह ने कहा कि देश में जिस तरह बेरोजगारी की समस्या बढ़ रही है, ऐसी परिस्थिति में कृषि के क्षेत्र में अगर हम प्रोत्साहन दें तो इस समस्या को बखूबी कम कर सकते हैं। उन्होंने खेती में नई तकनीक अपनाने पर बल दिया। श्री राजनाथ सिंह जी ने कहा कि दुनिया के तमाम देशों में ऑर्गेनिक फूड की मांग बढ़ रही है। खासकर इटली, ऑस्ट्रेलिया और अर्जेंटीना जैसे देशों में इसकी मांग काफी ज्यादा है। उन्होंने कहा कि आखिर हम ऑर्गेनिक फूड की तकनीक अपनाने में पीछे क्यों जा रहे हैं। आजादी से पहले ऑर्गेनिक फूड ही होती थी। आज अधिक उत्पादकता के लिए केमिकल का इस्तेमाल हो रहा है जिससे स्वास्थ्य, पर्यावरण व अन्य समस्याएं सामने आ रही हैं। उन्होंने कहा कि ऑर्गेनिक पेस्ट्रिसाइड के माध्यम से भी उत्पादकता बढ़ाई जा सकती है, लेकिन मौजूदा सरकार इसे लेकर उदासीन है। उन्होंने जोर देकर कहा कि हमारी सरकार आते ही इसे प्राथमिकता दी जाएगी। श्री सिंह ने कहा कि ऑर्गेनिक फूड के लिए तीन साल तक सब्सिडी दी जानी चाहिए, क्योंकि ऑर्गेनिक फूड की तरफ अगर किसान अग्रसर होंगे तो उन्हें शुरुआत में अपेक्षाकृत कम उत्पादन होगी तो अगर तीन साल तक हम उन्हें सब्सिडी देंगे तो आने वाले समय में वह समृद्ध हो सकते हैं। उन्होंने मौजूदा ऑर्गेनिक फूड सर्टिफिकेशन पर ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि इसके लिए बहुत सारी प्रक्रियाएं हैं जो जटिल हैं। श्री सिंह ने कहा कि आज के हालात में किसानों को पता ही नहीं है कि हमारी मिट्टी में किस तरह की फसल होनी चाहिए। इसके लिए उन्होंने ‘स्वायल हेल्थ कार्ड’ पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि यह कार्ड हर किसान के पास हो। दूसरी तरफ सब्सिडी के मामले पर उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को सब्सिडी देने का दावा करती है। श्री सिंह ने कहा कि अगर सब्सिडी देनी है तो हर किसान का अपना बैंक अकाउंट हो और सरकार की ओर से किसानों के लिए राहत का पैसा सीधा उनके अकाउंट में जाना चाहिए, ऐसी व्यवस्था हो।
<div>

उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तान को अगर खुशहाल बनाना है तो किसानों को खुशहाल बनाना होगा। श्री सिंह ने गरीबी, बेरोजगारी, आर्थिक संकट जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए भी कृषि के क्षेत्र में ध्यान आकृष्ट करना जरूरी बताया। उन्होंने देश की अर्थव्यवस्था पर चिंता जताते हुए कहा कि चालू खाता घाटा बढ़ते जा रहा है जिसके कारण रुपया गिर रहा है। उन्होंने कहा कि केवल कृषि पर ध्यान दे दें तो एक्सपोर्ट को बढ़ाकर चालू खाता घाटा को कम कर सकते हैं। श्री सिंह ने कहा कि महंगाई से अगर निजात दिलानी है तो भी हमें कृषि को बढ़ावा देना होगा। उन्होंने हर शहर व कस्बे में किसान बाजार लगाने की आवश्यकता पर जोर दिया और कहा कि किसान और आम जनता के बीच बिचौलियों की भागीदारी को खत्म करने की जरूरत है ताकि किसानों को उनके पैदावार पर उचित कीमत मिल सके। उन्होंने इसके लिए अमेरिका का उदाहरण दिया जहां पहले 370 किसान बाजार हुआ करते थे, लेकिन आज वहां 7,000 किसान बाजार हैं। उन्होंने कहा कि देश के लोग स्वायल और सोसायटी दोनों से जुड़े रहें।

</div>
&nbsp;

<span style=”color: #ff0000;”>नरेंद्र मोदी के मामले पर अदालत के फैसले का स्वागत – राजनाथ</span>

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के मामले पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजनाथ सिंह जी ने अहमदाबाद मेट्रोपॉलिटन कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि हम यही अपेक्षा ही कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मोदी जी की लोकप्रियता बढ़ती जा रही है। एक सवाल के जवाब में श्री सिंह ने जोर देकर कहा कि भाजपा का नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री उम्मीदवार के रूप में पेश किया जाना एक सही फैसला था।

&nbsp;

&nbsp;

&nbsp;

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to Top