रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने ‘आर्म्‍ड फोर्सेज सेल्‍यूट कोरोना वॉरियर्स’ के लिए सशस्‍त्र बलों की प्रशंसा की

रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगातार संघर्ष कर रहे कोरोना योद्धाओं को सलाम करने के लिए आज देश के विभिन्न स्थानों पर थल, जल और वायु में सैकड़ों गतिविधियों को अंजाम देने के सशस्त्र बलों के प्रयासों की सराहना की है।

उन्होंने कहा, “सशस्त्र बलों ने कोरोना महामारी से जूझ रहे योद्धाओं के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए आज अनेक गतिविधियों का आयोजन किया। अग्रिम मोर्चों पर तैनात रहने वाले ये योद्धा कोविड-19 के खिलाफ भारत की लड़ाई में शामिल सभी योद्धाओं के मनोबल को मजबूती प्रदान करने की दिशा में सराहनीय काम कर रहे हैं।”

 वायुसेना, नौसेना और तटरक्षक बल के हेलीकाप्टरों द्वारा फ्लाई पास्‍ट, अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा का उल्लेख करते हुएश्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कोविड-19 द्वारा प्रस्‍तुत चुनौतियों पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्व में काबू पाने के देश के संकल्प और एकता को सशस्त्र बलों नेसलाम किया।

श्री राजनाथ सिंह ने चिकित्सा व्‍यवसायियों, पुलिस और अन्य फ्रंटलाइन वॉरियर्स के प्रति आभार व्यक्त करने के लिएकई प्रदर्शनों के माध्यम से सशस्त्र बलों की ओर से की गई विशेष पहल के लिए उन्‍हें धन्‍यवाद दिया और कहा कि इस चुनौतीपूर्ण समय में पूरा देश एकजुट है।

     डॉक्टरों, नर्सों, स्वच्छता और सफाई कर्मचारियों, पुलिस कर्मियों, मीडिया कर्मियों और आवश्यक सेवाओं तथा आपूर्ति बनाए रखने में जुटे अन्य कई लोगों सरीखे कोरोना योद्धाओं ने कोविड-19 को फैलने से रोकने की दिशा में किए जा रहे राष्ट्रीय प्रयासों में लगातार अपना योगदान दिया है। ये योद्धा रोजाना अपने जीवन को खतरे में डाल रहे हैं ताकि बिजली और पानी जैसी बुनियादी सुविधाएं सभी को उपलब्‍ध कराना सुनिश्चित किया जा सके, सड़कें साफ-सुथरी हों, खाने की बुनियादी चीजें उपलब्ध हों, कोई भी मरीज बिना इलाज के वापस न लौटे, कानून और व्यवस्था बरकार रहे और विदेशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके और उनकी देखभाल हो सके।

सशस्त्र बलों ने भारत के कोरोना योद्धाओं के प्रति आज अद्वितीय सैन्य तरीके से भव्‍य सम्‍मान प्रकट किया। श्रीनगर से तिरुवनंतपुरम और डिब्रूगढ़ से कच्छ तक सेना ने पुलिस स्‍मारकों पर पुष्‍पां‍जलि करने, स्वास्थ्य व्‍यवसायियों और आपातकालीन आपूर्ति संचालकों को सम्मानित करने और उनका अभिनंदन करने जैसी विभिन्न गतिविधियों को अंजाम दिया। सभी राज्यों के सैकड़ों शहरों में सेना कीस्थानीय संरचनाओं द्वारा देश भर में मिलिट्री बैंड सहित छोटी और बड़ी सैन्‍य टीमों के साथ अस्‍पतालों का दौरा किया गया, जिन्‍होंने देशभक्ति की धुने बजाकर कोरोना के खिलाफ संघर्षरतइन फ्रंटलाइन योद्धाओं के प्रति सम्‍मान प्रकट किया।

     दिल्ली, कोलकाता, चेन्नई, बेंगलुरु, भोपाल, आगरा, अमृतसर, बेलगाम, रानीखेत, पिथौरागढ़ सहित अनेक महानगरों, बड़े और छोटे शहरों में सेना, नौसेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) और तटरक्षक बल (आईसीजी) ने अस्पतालों का दौरा किया और अपना सम्‍मान प्रकट किया। गतिविधियों की शुरुआत स्थानीय पुलिस स्मारक पर पु‍ष्‍पांजलि अर्पित करने के साथ शुरू हुईं, यह घटना वास्तव में अभूतपूर्व रही  और सुरक्षाबलों को उनके वर्दीधारी भाइयों के करीब लाई। समूचे देश और सभी देशवासियों ने इस भव्‍य अभिनंदन का आनंद लिया और सोशल मीडिया पर सशस्त्र बलों के लिए बड़े पैमाने पर शुभकामनाएं दी और अपना स्‍नेह प्रकट किया।

     समूचे देश में सशस्त्र बलों ने कई अन्य कार्यक्रम आयोजित किए, जिनमें भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के लड़ाकू और परिवहन विमानों द्वारा फ्लाई पास्ट करना भी शामिल था। भारतीय वायुसेना, भारतीय नौसेना और तटरक्षक बल (आईसीजी) के हेलीकॉप्टरों ने कोविड रोगियों का इलाज करने वाले अस्पतालों पर पुष्‍प वर्षा की। सेना और भारतीय वायु सेना (आईएएफ) के बैंड ने कोविड अस्पतालों का दौरा किया और धुनें बजाकर कोरोना वारियर्स के प्रति आभार व्यक्तकिया।

 सुखोई -30 एमकेआई, मिग -29 और जगुआर जैसे लड़ाकू विमानों ने राजपथ पर फ्लाई पास्‍ट करते हुए फॉर्मेशन्‍स बनाईं और दिल्ली की परिक्रमा की, जिसे निवासियों ने अपने घरों की छतों से देखा। इसके अलावा, सी 130 जे हरक्यूलिस परिवहन विमान ने भी एनसीआर क्षेत्र में उड़ान भरी।

नौसेना और आईसीजी पोतों ने तटों के समीपचुनिंदा स्थानों पर फॉर्मेशन्‍स बनाईं। आज रात को दूरदराज के इलाकों और अंडमान निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप तथा मिनिकॉय द्वीप समूह  जैसे सुदूर क्षेत्रों सहित देश की पूरी तटीय रेखा के साथ 25 स्‍थानों पर पोतों को प्रकाशवान किया जाएगा।

Back to Top